लॉकडाउन में नेताओं का जुदा अंदाज !

भोपाल, 27 मार्च (आईएएनएस)। कोरोनावायरस महामारी को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिन का लॉकडाउन किया है, बडी संख्या में लोग इसका पालन कर रहे हैं। नेताओं ने भी खुद को घर में ही कैद कर रखा है और वे इस समय का उपयोग अपनी अभिरुचि को पूरा करने में लगा रहे हैं। इन दिनों हर कोई कोरोनावायरस पर जल्दी से जल्दी काबू पाने के ही चाह रख रहा है, यही कारण है कि कुछ लोगों को छोड़ दिया जाए तो बड़ी संख्या में लोगों ने प्रधानमंत्री के लॉकडाउन का समर्थन किया है और वे घरों से नहीं निकल रहे हैं। अगर मजबूरी में घर से निकलना भी पड़ रहा है तो वह सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रख रहे हैं। बड़ी संख्या में लोग मास्क लगाकर, हाथ में ग्लब्ज पहनकर चलते हैं। साथ ही साथ सैनेटाइजर भी लेकर चल रहे हैं। आम लोग जागरूक हैं और अपने बचाव के इंतजाम कर रहे हैं। वहीं सैकड़ों-हजारों लोगों की भीड़ से घिरे रहने वाले राजनेताओं ने भी खुद को घरों में कैद कर रखा है। हालांकि वो सभी फोन पर उपलब्ध हैं ताकि जरूरतमंद लोगों की मदद कर सकें। इस खाली वक्त का नेता अपनी अभिरुचि के अनुसार उपयोग कर रहे हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा की बात करें तो उनका अधिकांश समय ईश्वर की आराधना में गुजर रहा है। आम लोगों के स्वस्थ रहने के साथ सभी के खुशहाल रहने की कामना कर रहे हैं। बीच-बीच में फोन पर पूरे प्रदेश के कार्यकर्ताओं से संपर्क कर जानकारी लेते रहते हैं, इतना ही नहीं उन्होंने भाजपा के कार्यकर्ताओं और भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष डॉ.अभिलाष पांडे से जरूरतमंदों की मदद के लिए हर संभव प्रयास करने को कहा है। हाल ही में भाजपा में शामिल हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी लोगों से सीधे संवाद कर रहे है, उन्होंने अपने को घर के भीतर रखा है और खुद दूरभाष पर उपलब्ध है, लोगों की समस्याएं सुनकर उनका निराकरण कर रहे है। इसी तरह राज्य के पूर्व मंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा घर पर अपने नाती-पोतों के साथ समय बिता रहे हैं। बच्चों के साथ खेल तो रहे ही हैं, उनका ज्ञान वर्धन भी कर रहे हैं, पढ़ा रहे हैं, साथ ही आम लोगों से सतत संपर्क में भी हैं। आमतौर पर महिलाओं को सबसे अच्छा खाना बनाना लगता है, मगर राजनीति में आ जाने के कारण उन्हें ऐसा करने का कम ही मौका मिलता है। यही कारण है की पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर की बहू और भोपाल से विधायक कृष्णा गौर लॉकडाउन के दौरान किचन में ही ज्यादा वक्त गुजार रही हैं और अपने परिवार के सदस्यों को अपने हाथ से बनाए गए व्यंजन खिला रही हैं। परिवार के सदस्यों के लिए भी यह बड़े अरसे बाद ऐसा मौका आया है। दूसरी ओर वो आमजन से संपर्क में भी हैं ताकि उनकी समस्याओें को निपटाया जा सके। इसी तरह पथरिया जिले से बसपा विधायक रामबाई भी किचन में ही ज्यादा सक्रिय हैं और तरह-तरह के व्यंजन बनाने की मशक्कत में लगी हैं। हालांकि इसके साथ ही यह महिला जनप्रतिनिधि अपने क्षेत्र के लोगों की समस्याओं का निपटारा करना नहीं भूल रहीं हैं। .Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News.....Leaders parted ways in lockdown!. ..

लॉकडाउन में नेताओं का जुदा अंदाज !
भोपाल, 27 मार्च (आईएएनएस)। कोरोनावायरस महामारी को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिन का लॉकडाउन किया है, बडी संख्या में लोग इसका पालन कर रहे हैं। नेताओं ने भी खुद को घर में ही कैद कर रखा है और वे इस समय का उपयोग अपनी अभिरुचि को पूरा करने में लगा रहे हैं। इन दिनों हर कोई कोरोनावायरस पर जल्दी से जल्दी काबू पाने के ही चाह रख रहा है, यही कारण है कि कुछ लोगों को छोड़ दिया जाए तो बड़ी संख्या में लोगों ने प्रधानमंत्री के लॉकडाउन का समर्थन किया है और वे घरों से नहीं निकल रहे हैं। अगर मजबूरी में घर से निकलना भी पड़ रहा है तो वह सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रख रहे हैं। बड़ी संख्या में लोग मास्क लगाकर, हाथ में ग्लब्ज पहनकर चलते हैं। साथ ही साथ सैनेटाइजर भी लेकर चल रहे हैं। आम लोग जागरूक हैं और अपने बचाव के इंतजाम कर रहे हैं। वहीं सैकड़ों-हजारों लोगों की भीड़ से घिरे रहने वाले राजनेताओं ने भी खुद को घरों में कैद कर रखा है। हालांकि वो सभी फोन पर उपलब्ध हैं ताकि जरूरतमंद लोगों की मदद कर सकें। इस खाली वक्त का नेता अपनी अभिरुचि के अनुसार उपयोग कर रहे हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा की बात करें तो उनका अधिकांश समय ईश्वर की आराधना में गुजर रहा है। आम लोगों के स्वस्थ रहने के साथ सभी के खुशहाल रहने की कामना कर रहे हैं। बीच-बीच में फोन पर पूरे प्रदेश के कार्यकर्ताओं से संपर्क कर जानकारी लेते रहते हैं, इतना ही नहीं उन्होंने भाजपा के कार्यकर्ताओं और भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष डॉ.अभिलाष पांडे से जरूरतमंदों की मदद के लिए हर संभव प्रयास करने को कहा है। हाल ही में भाजपा में शामिल हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी लोगों से सीधे संवाद कर रहे है, उन्होंने अपने को घर के भीतर रखा है और खुद दूरभाष पर उपलब्ध है, लोगों की समस्याएं सुनकर उनका निराकरण कर रहे है। इसी तरह राज्य के पूर्व मंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा घर पर अपने नाती-पोतों के साथ समय बिता रहे हैं। बच्चों के साथ खेल तो रहे ही हैं, उनका ज्ञान वर्धन भी कर रहे हैं, पढ़ा रहे हैं, साथ ही आम लोगों से सतत संपर्क में भी हैं। आमतौर पर महिलाओं को सबसे अच्छा खाना बनाना लगता है, मगर राजनीति में आ जाने के कारण उन्हें ऐसा करने का कम ही मौका मिलता है। यही कारण है की पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर की बहू और भोपाल से विधायक कृष्णा गौर लॉकडाउन के दौरान किचन में ही ज्यादा वक्त गुजार रही हैं और अपने परिवार के सदस्यों को अपने हाथ से बनाए गए व्यंजन खिला रही हैं। परिवार के सदस्यों के लिए भी यह बड़े अरसे बाद ऐसा मौका आया है। दूसरी ओर वो आमजन से संपर्क में भी हैं ताकि उनकी समस्याओें को निपटाया जा सके। इसी तरह पथरिया जिले से बसपा विधायक रामबाई भी किचन में ही ज्यादा सक्रिय हैं और तरह-तरह के व्यंजन बनाने की मशक्कत में लगी हैं। हालांकि इसके साथ ही यह महिला जनप्रतिनिधि अपने क्षेत्र के लोगों की समस्याओं का निपटारा करना नहीं भूल रहीं हैं। .Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News.....Leaders parted ways in lockdown!. ..