कांग्रेस स्थापना दिवस: आजादी के आंदोलन में योगदान न देने वाले आज भय फैला रहे- प्रियंका

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने, देश में सीएए के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों के बीच शनिवार को यहां केंद्र और राज्य में सत्तासीन भाजपा पर हमला बोला और कहा कि जिन्होंने आजादी के आंदोलन में कोई योगदान नहीं दिया, आज वे...

कांग्रेस स्थापना दिवस: आजादी के आंदोलन में योगदान न देने वाले आज भय फैला रहे-  प्रियंका

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने, देश में सीएए के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों के बीच शनिवार को यहां केंद्र और राज्य में सत्तासीन भाजपा पर हमला बोला और कहा कि जिन्होंने आजादी के आंदोलन में कोई योगदान नहीं दिया, आज वे देशभक्त बनकर देश में भय फैला रहे हैं। प्रियंका ने कांग्रेस के 135वें स्थापना दिवस पर यहां आयोजित एक समारोह को संबोधित करते हुए कहा, एक दमनकारी विचारधारा है, आज भी हम उसी से लड़ रहे हैं, जिससे हम आजादी के समय लड़े थे। जिन्होंने आजादी के संघर्ष में कोई योगदान नहीं दिया वे देशभक्त बनकर देशभर में भय फैलाना चाहते हैं। देशभक्ति के नाम पर लोगों को डराया जा रहा है।

उन्होंने कहा, आज देश में वही शक्तियां सरकार चला रही हैं, जिनसे हमारी ऐतिहासिक टक्कर रही है। जब-जब देश में भय का माहौल फैलाया जाता है तब-तब कांग्रेस का कार्यकर्ता खड़ा होता है। हम अहिंसा की विचारधारा से उपजे हैं। इस समय देश देश संकट में है, आपने देखा कि पिछले दिनों में किस तरह की अराजकता फैली। संविधान के खिलाफ बने कानून के विरोध में देश के कोने-कोने में युवा आवाज उठा रहे हैं। प्रियंका ने कहा, हमारे दिल में अहिंसा और करुणा है। कायर की पहचान हिंसा है। झूठ से देश ऊब चुका है। कायरता को देश पहचान रहा है। आवाज उठाने पर बच्चों को मार रहे हैं। पहले देश में एनआरसी की बात फैलाई, अब कह रहे हैं कि एनआरसी की चर्चा ही नहीं हुई।

उन्होंने कहा, दूसरी पार्टियां सरकार से डर रही हैं, वे कुछ नहीं कह रही हैं। कांग्रेस को संघर्ष की चुनौती स्वीकार है। दमनकारी विचारधारा से टक्कर है। कार्यकर्ताओं के दिल में भय और हिंसा नहीं। उन्होंने कोई बलिदान नहीं दिया है। कांग्रेस महासचिव ने कहा, आज देश में संकट में हैं। सरकार आज छात्रों की आवाज दबा रही है। डरने वाला मुंह बंद करने की कोशिश करता है। लेकिन हम इनकी हर दमनकारी नीति का जमकर और हर स्तर पर विरोध कर रहे हैं। उन्होंने सीएए को नोटबंदी का दूसरा रूप भी बताया।

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा, आज का दिन ऐतिहासिक है। आज के दिन ही कांग्रेस की स्थापना हुई थी। पार्टी की स्थापना अंग्रेजों की दमनकारी नीतियों के खिलाफ आवाज उठाने के लिए की गई थी। एक वह समय था जब हम गोरों से लड़ रहे थे, लेकिन आज चोरों से लड़ रहे हैं। देश व प्रदेश में जो सरकार है, वह घमंडी है। इससे पहले प्रियंका ने यहां कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय में पार्टी का ध्वज फहराया और पार्टी नेताओं को संविधान की शपथ भी दिलाई।

मुंबई में कांग्रेस का मार्च

स्थापना दिवस पर प्रियंका गांधी का ट्वीट करते हुए लिखा, अन्तिम पायदान पर खड़े इंसान की आवाज हैं। किसान, नौजवान, मजदूर, महिलाएं और हर मज़लूम की आवाज हैं। प्रेम, भाईचारा, शांति, सत्य का अंदाज हैं। हम कांग्रेस हैं।

सोनिया गांधी ने फहराया तिरंगा

राहुल का सरकार पर हमला
कांग्रेस के स्थापना दिवस के मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी मुख्यालय में झंड़ा फहराया। इस मौके पर राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी सरकार पर जोरदार हमला बोला। राहुल ने NRC और CAA को लेकर कहा कि सरकार का ये कदम गरीब लोगों के लिए नोटबंदी से भी बड़ा झटका साबित होगा। राहुल ने कहा कि सरकार के 15 दोस्तों को कोई कागजात नहीं देना होगा, लेकिन बाकी गरीब लोग इससे बहुत परेशान होंगे और ये कदम नोटबंदी से भी बड़ी झटका साबित होगा। 

कांग्रेस के स्थापना दिवस पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ट्वीट किया 

कांग्रेस स्थापना दिवस 

बता दें दिल्ली में भारत बचाओ रैली की सफलता के बाद कांग्रेस विभिन्न राज्यों में ऐसे मार्च का आयोजन करने जा रही है। पार्टी को मकसद मोदी सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ जमकर विरोध करना है। इस मार्च के दौरान कांग्रेस नागरिकता संशोधन कानून और छात्रों पर कथित पुलिस कार्रवाई सहित आम लोगों को प्रभावित करने वाले मुद्दे उठाएगी

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने किया ट्वीट
 

कब कैसे बनी थी कांग्रेस पार्टी
इस पार्टी की स्थापना अवकाश प्राप्त ICS अधिकारी स्कॉटलैंड निवासी ऐलन ओक्टोवियन ह्यूम (एओ ह्यूम) ने थियोसोफिकल सोसायटी के मात्र 72 राजनीतिक कार्यकर्ताओं के सहयोग से की थी। 28 दिसंबर 1885 को कांग्रेस का पहला चार दिवसीय अधिवेशन बॉम्बे (मुंबई) के गोकुलदास तेजपाल संस्कृत कॉलेज में हुआ था, जिसके अध्यक्ष तब के बैरिस्टर व्योमेश चंद्र बनर्जी थे। उस समय इस पार्टी में सामाजिक कार्यकर्ता, पत्रकार और वकीलों का दल भी शामिल था। कुछ समय बाद इस पार्टी में महात्मा गांधी, मदन मोहन मालवीय, सुभाषचंद्र बोस, जवाहरलाल नेहरू जैसे दिग्गज नेता शामिल हुए। आजादी के बाद कांग्रेस के पहले अध्यक्ष आचार्य कृपलानी बने थे। 

कांग्रेस पार्टी के 135 साल पूरे



.Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News.
.
...
Congress Foundation Day live update: Congress's 'Save the Constitution - Save India' march in all states of the country
.
.
.