ओडिशा: कच्चे घर में रहने वाले गरीब सांसद प्रताप सारंगी बने मोदी के मंत्री

डिजिटल डेस्क, भुवनेश्वर। ओडिशा के बालासोर से बीजेपी के टिकट पर लोकसभा चुनाव जीते 64 वर्षीय प्रताप चंद्र सारंगी को सरकार में राज्य मंत्री बनाया गया है। सारंगी को उनकी सादगी के कारण ओडिशा का मोदी भी कहा जाता है, उन्होंने शादी नहीं की है, पिछले साल उनकी मां का निधन होने के बाद वो अपने कच्चे घर में अकेले ही रहते हैं। सारंगी पूरे समाज को अपना घर मानते हैं।   बालासोर जिले के नीलगिरी के रहने वाले प्रताप अपने घर के सामने लगे हैंडपंप से खुद ही पानी भरते हैं। नहाने और पूजा करने के बाद वो समाज सेवा के काम में लग जाते हैं। बताया जाता है कि पीएम मोदी भी उनसे खासे प्रभावित हैं। सारंगी मानते हैं कि समाजसेवा के लिए राजनीति उपयुक्त प्लेटफॉर्म है। इलाके में जब भी किसी गरीब को कोई काम होता है तो वह सीधे प्रताप चंद्र सारंगी के घर पहुंच जाता है, उसे पता होता है कि यहां उसकी बात जरूर सुनी जाएगी, उनकी उनकी ईमानदारी, सादगी और कम खर्जीली जिंदगी से भी लोग काफी प्रभावित होते हैं। अपनी इस छवी के कारण ही सारंगी बीजद के मजबूत गढ़ को ढहाने में कामयाब रहे। उन्होंने अपने विरोधी और करोड़पति प्रत्याशी रवींद्र कुमार जेना को को 12 हजार 956 वोटों से हरा दिया।  गरीब परिवार में जन्मे सांसद प्रताब चंद्र सारंगी ओडिशा के बालेश्वर के रहने वाले हैं। सारंगी शुरू से ही कर्मकांडी और धार्मिक स्वभाव के रहे हैं। सारंगी ने ओडिशा के नीलगिरी फकीर मोहन कॉलेज से स्नातक किया है। उन्होंने पूरी जिंदगी शादी न करने का फैसला किया और अपनी मां की सेवा करते रहे। वो छोटे से घर में रहते हैं और उनकी मां के देहांत के बाद उनके घर में वो अकेल ही रह गए हैं। सारंगी 2004 से 09 तक विधायक रह चुके हैं। Newly elected MP from Balasore, Odisha, Pratap Chandra Sarangi takes oath as Minister. #ModiSwearingIn pic.twitter.com/Z3a5lvbFLJ — ANI (@ANI) May 30, 2019   .Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News.....Odisha: poor member of parliament pratap chandra sarangi become minister. ..

ओडिशा: कच्चे घर में रहने वाले गरीब सांसद प्रताप सारंगी बने मोदी के मंत्री

डिजिटल डेस्क, भुवनेश्वर। ओडिशा के बालासोर से बीजेपी के टिकट पर लोकसभा चुनाव जीते 64 वर्षीय प्रताप चंद्र सारंगी को सरकार में राज्य मंत्री बनाया गया है। सारंगी को उनकी सादगी के कारण ओडिशा का मोदी भी कहा जाता है, उन्होंने शादी नहीं की है, पिछले साल उनकी मां का निधन होने के बाद वो अपने कच्चे घर में अकेले ही रहते हैं। सारंगी पूरे समाज को अपना घर मानते हैं।  

बालासोर जिले के नीलगिरी के रहने वाले प्रताप अपने घर के सामने लगे हैंडपंप से खुद ही पानी भरते हैं। नहाने और पूजा करने के बाद वो समाज सेवा के काम में लग जाते हैं। बताया जाता है कि पीएम मोदी भी उनसे खासे प्रभावित हैं। सारंगी मानते हैं कि समाजसेवा के लिए राजनीति उपयुक्त प्लेटफॉर्म है।

इलाके में जब भी किसी गरीब को कोई काम होता है तो वह सीधे प्रताप चंद्र सारंगी के घर पहुंच जाता है, उसे पता होता है कि यहां उसकी बात जरूर सुनी जाएगी, उनकी उनकी ईमानदारी, सादगी और कम खर्जीली जिंदगी से भी लोग काफी प्रभावित होते हैं। अपनी इस छवी के कारण ही सारंगी बीजद के मजबूत गढ़ को ढहाने में कामयाब रहे। उन्होंने अपने विरोधी और करोड़पति प्रत्याशी रवींद्र कुमार जेना को को 12 हजार 956 वोटों से हरा दिया। 

गरीब परिवार में जन्मे सांसद प्रताब चंद्र सारंगी ओडिशा के बालेश्वर के रहने वाले हैं। सारंगी शुरू से ही कर्मकांडी और धार्मिक स्वभाव के रहे हैं। सारंगी ने ओडिशा के नीलगिरी फकीर मोहन कॉलेज से स्नातक किया है। उन्होंने पूरी जिंदगी शादी न करने का फैसला किया और अपनी मां की सेवा करते रहे। वो छोटे से घर में रहते हैं और उनकी मां के देहांत के बाद उनके घर में वो अकेल ही रह गए हैं। सारंगी 2004 से 09 तक विधायक रह चुके हैं।


 



.Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News.
.
...
Odisha: poor member of parliament pratap chandra sarangi become minister
.
.
.