NEP 2020: राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू करने वाला देश का पहला राज्य बना हिमाचल प्रदेश, सरकार ने टास्क फोर्स का किया गठन

डिजिटल डेस्क, शिमला। हिमाचल प्रदेश राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। हिमाचल की जयराम सरकार ने तत्काल प्रभाव से नई शिक्षा नीति को लागू कर दिया है। राज्यपाल से मंजूरी मिलने के बाद शिक्षा सचिव ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी है। इसे सफलतापूर्वक लागू करने के लिए 43 सदस्यों की टास्क फोर्स का भी गठन किया गया है। जयराम सरकार ने नई शिक्षा नीति लागू होने के साथ ही 43 सदस्यों की टास्क फोर्स के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर को दी है। इसके अलावा समग्र शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना निदेशक को बतौर सदस्य सचिव नियुक्त किया गया है। इसके साथ ही टास्क फोर्स में विभिन्न विभागों के सचिव, विश्वविद्यालयों के कुलपति और स्कूल व कॉलेजों के शिक्षकों को सदस्य के रूप में शामिल किया है। बता दें कि हिमाचल प्रदेश में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के लागू होने के बाद यहां शिक्षा में कई अहम बदलाव देखने को मिलेंगे जिसके तहत पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न में भी बदलाव देखे जा सकते हैं। इस मामले में अधिक जानकारी देते हुए शिक्षा सचिव राजीव शर्मा ने बताया है कि इस टास्क फोर्स ने शिक्षा, स्वास्थ्य, तकनीकी शिक्षा, वित्त, युवा और खेल सेवाओं को शामिल किया है। बता दें कि 34 साल बाद एजुकेशन पॉलिसी में बदलाव हुए हैं। 34 साल पहले यानी 1986 में राष्ट्रीय शिक्षा नीति बनाई गई थी। करीब तीन दशक से इसमें कोई बड़ा बदलाव नहीं हुआ है। इसकी समीक्षा के लिए 1990 और 1993 में कमेटियां भी बनाई गईं थीं।  .Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News.....Implementing national education 2020 to be implemented in Himachal Pradesh with immediate effect. ..

NEP 2020: राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू करने वाला देश का पहला राज्य बना हिमाचल प्रदेश, सरकार ने टास्क फोर्स का किया गठन
डिजिटल डेस्क, शिमला। हिमाचल प्रदेश राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। हिमाचल की जयराम सरकार ने तत्काल प्रभाव से नई शिक्षा नीति को लागू कर दिया है। राज्यपाल से मंजूरी मिलने के बाद शिक्षा सचिव ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी है। इसे सफलतापूर्वक लागू करने के लिए 43 सदस्यों की टास्क फोर्स का भी गठन किया गया है। जयराम सरकार ने नई शिक्षा नीति लागू होने के साथ ही 43 सदस्यों की टास्क फोर्स के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर को दी है। इसके अलावा समग्र शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना निदेशक को बतौर सदस्य सचिव नियुक्त किया गया है। इसके साथ ही टास्क फोर्स में विभिन्न विभागों के सचिव, विश्वविद्यालयों के कुलपति और स्कूल व कॉलेजों के शिक्षकों को सदस्य के रूप में शामिल किया है। बता दें कि हिमाचल प्रदेश में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के लागू होने के बाद यहां शिक्षा में कई अहम बदलाव देखने को मिलेंगे जिसके तहत पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न में भी बदलाव देखे जा सकते हैं। इस मामले में अधिक जानकारी देते हुए शिक्षा सचिव राजीव शर्मा ने बताया है कि इस टास्क फोर्स ने शिक्षा, स्वास्थ्य, तकनीकी शिक्षा, वित्त, युवा और खेल सेवाओं को शामिल किया है। बता दें कि 34 साल बाद एजुकेशन पॉलिसी में बदलाव हुए हैं। 34 साल पहले यानी 1986 में राष्ट्रीय शिक्षा नीति बनाई गई थी। करीब तीन दशक से इसमें कोई बड़ा बदलाव नहीं हुआ है। इसकी समीक्षा के लिए 1990 और 1993 में कमेटियां भी बनाई गईं थीं।  .Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News.....Implementing national education 2020 to be implemented in Himachal Pradesh with immediate effect. ..