यूपीपीसीएस 2017 रिजल्ट: श्रेणीवार कट ऑफ अंक जल्द अपलोड होंगे |

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के सचिव जगदीश ने बताया कि पीसीएस 2017 परीक्षा का  अंतिम परिणाम आयोग की वेबसाइट पर देखा जा सकता है। अंतिम तौर पर सफल घोषित जिन अभ्यर्थियों के नाम के आगे प्रोविजनल शब्द...

यूपीपीसीएस 2017  रिजल्ट: श्रेणीवार कट ऑफ अंक जल्द अपलोड होंगे |

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के सचिव जगदीश ने बताया कि पीसीएस 2017 परीक्षा का  अंतिम परिणाम आयोग की वेबसाइट पर देखा जा सकता है। अंतिम तौर पर सफल घोषित जिन अभ्यर्थियों के नाम के आगे प्रोविजनल शब्द अंकित है, उन्हें वांछित अभिलेख निर्धारित अवधि में आयोग दफ्तर में जमा कराने होंगे। ऐसा न करने पर चयन निरस्त किया दिया जाएगा। सचिव ने बताया कि परीक्षा परिणाम से संबंधित प्राप्तांक तथाा श्रेणीवार कट ऑफ अंक बहुत जल्द आयोग की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया जाएगा। इस बारे में सूचना के अधिकर अधिनियम 2005 के तहत आवेदन पत्र स्वीकार नहीं किए  जाएंगे।


एक साल में पीसीएस के दो अंतिम परिणाम -
इस साल पीसीएस का यह दूसरा अंतिम परिणाम है। इससे पूर्व 22 फरवरी 2019 को पीसीएस 2016 का अंतिम परिणाम घोषित किया गया था। पीसीएस 2016 में 53 डिप्टी कलेक्टर और 52 डिप्टी एसपी, समेत 26 प्रकार के 630 पदों पर चयन किया गया था। इस प्रकार दोनों भर्तियों को मिलाकर इस वर्ष पीसीएस संवर्ग के 1306 पदों पर चयन किया जा चुका है।

मेंस से पहले परिणाम दे वादा किया पूरा-
18 अक्टूबर 2019 से प्रस्तावित पीसीएस 2018 मुख्य परीक्षा से पहले पीसीएस 2017 का अंतिम परिणाम घोषित करने के उद्देश्य से पहली बार आयोग ने पीसीएस इंटरव्यू छुट्टियों में भी करवाकर कम समय में इंटरव्यू आयोजित करने का रिकॉर्ड बनाया है। डॉ प्रभात कुमार के आयोग अध्यक्ष की कमान संभालने के बाद प्रतियोगी छात्रों ने उनसे मिलकर पीसीएस 2017 का परिणाम पीसीएस 2018 मेंस से पहले घोषित करने की मांग की थी।

अध्यक्ष ने प्रतियोगी छात्रों से  परिणाम घोषित करने का वादा किया था। वह अपने वादे पर खरे उतरे। पीसीएस 2017 में मनचाहा पद पाने वाले जो  अभ्यर्थी पीसीएस 2018 मेंस के लिए सफल हुए होंगे, वे अब मेंस में शामिल नहीं होंगे। पूर्व की परीक्षाओं में ऐसा हुआ है कि एक अभ्यर्थी पीसीएस की दो परीक्षाओं में सफल हो गया और उसने एक पद को