कांग्रेस का हल्लाबोल - कलेक्टे्रट में ढाई घंटे प्रदर्शन, खूब हुई बैरीकेड लांघने और रोकने जोर आजमाइश

डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। अतिवृष्टि और बाढ़ से हुई फसलों समेत तमाम क्षति के सर्वे और शीघ्र मुआवजा वितरण की मांग और जिला अस्पताल के कोविड वार्ड में लापरवाही सहित 11 बिंदुओं को लेकर कांग्रेस ने जमकर हल्ला बोला। करीब ढाई घंटे तक कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन कर सरकार और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। गेट पर उन्हें रोकने लगाई गई बैरीकेड  को कई बार लांघने की कोशिश की। इस दौरान पुलिस से धक्कामुक्की की स्थिति भी बनी। मौके पर मौजूद एसडीएम व एएसपी को कांग्रेसियों ने ज्ञापन नहीं दिया। वे कलेक्टर को ही ज्ञापन देने की मांग पर अड़े रहे। इस दौरान महिला कांग्रेस ने चूडिय़ां लहराकर प्रदर्शन किया। आखिर में करीब ड़ेढ़ बजे कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन गेट पर आए और ज्ञापन लिया तब जाकर कांग्रेस का प्रदर्शन समाप्त हुआ। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ व सांसद नकुलनाथ के निर्देशों पर हुए इस आंदोलन में जिला कांग्रेस अध्यक्ष गंगाप्रसाद तिवारी, पूर्व मंत्री दीपक सक्सेना, विधायक सोहन बाल्मिक, सुनील उइके, सुजीत चौधरी विजय चौरे, नीलेश उइके, विश्वनाथ ओकटे, गोविंद राय, अमित सक्सेना, मनीष पांडेय, सुरेश कपाले सहित युवक कांग्रेस, एनएसयूआई सहित सभी विभाग व प्रकोष्ठों के पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित रहे।  सड़क पर ही धरना देकर बैठ गए विधायक: ज्ञापन लेने के लिए जब कलेक्टर नहीं पहुंचे तो विधायक सहित सभी वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता बाहर सड़क पर ही धरने पर बैठ गए। जबकि युवा नेता और कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की। नारेबाजी में कलेक्टर को भाजपा से चुनाव लडऩे का आफर तक दे डाला। ढाई घंटे के प्रदर्शन के दौरान सड़क पर बैठकर धरना भी दिया।जब एसडीएम से कलेक्टर तक चूड़ी भेजने गुहार लगाई:  जिला प्रशासन द्वारा कांग्रेस के आंदोलन को नजरअंदाज करने का आरोप लगाते हुए जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष किरण चौधरी व कार्यकर्ताओं ने उपस्थित एसडीएम को चूड़ी दिखाते हुए कलेक्टर तक पहुंचाने की गुहार लगा ली। जिस पर एसडीएम नाराज हुए और कह पड़े कि बस यही काम के लिए तो एसडीएम बने हैं। महिलाओं ने चूड़ी दिखाते हुए प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओ से पुलिस ने की धक्कामुक्की: कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जब जिला अध्यक्ष कार्यालय पहुंचकर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन को रोकने वहां पहले से ही वज्र वाहन, फायर बिग्रेड और बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था। बैरीकेड को लांघने की कोशिश के दौरान पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच जमकर धक्कामुक्की की स्थिति बनी। कई बार बैरीकेड गिरे, जिसे पुलिस संभालती नजर आई।प्रदर्शन के दौरान फायरबिग्रेड कांच क्षतिग्रस्त: कांग्रेस के प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस बल के अलावा नगरनिगम की दो फायरबिग्रेड भी तैनात की गई थी। बाहर सड़क पर खड़ी एक फायरबिग्रेड  से जब वाटर केनन के प्रयास शुरू हुए तो कार्यकर्ता आक्रोशित हो गए। वाहन में चढ़कर नोजल पकड़ लिया। कुछ उत्साहितों ने वाहन की सामने की कांच क्षतिग्रस्त कर दी।     .Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News.....Congress's Hallabol - two-and-a-half-hour demonstration in the collectorate, there was a lot of effort. ..

कांग्रेस का हल्लाबोल - कलेक्टे्रट में ढाई घंटे प्रदर्शन, खूब हुई बैरीकेड लांघने और रोकने जोर आजमाइश
डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। अतिवृष्टि और बाढ़ से हुई फसलों समेत तमाम क्षति के सर्वे और शीघ्र मुआवजा वितरण की मांग और जिला अस्पताल के कोविड वार्ड में लापरवाही सहित 11 बिंदुओं को लेकर कांग्रेस ने जमकर हल्ला बोला। करीब ढाई घंटे तक कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन कर सरकार और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। गेट पर उन्हें रोकने लगाई गई बैरीकेड  को कई बार लांघने की कोशिश की। इस दौरान पुलिस से धक्कामुक्की की स्थिति भी बनी। मौके पर मौजूद एसडीएम व एएसपी को कांग्रेसियों ने ज्ञापन नहीं दिया। वे कलेक्टर को ही ज्ञापन देने की मांग पर अड़े रहे। इस दौरान महिला कांग्रेस ने चूडिय़ां लहराकर प्रदर्शन किया। आखिर में करीब ड़ेढ़ बजे कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन गेट पर आए और ज्ञापन लिया तब जाकर कांग्रेस का प्रदर्शन समाप्त हुआ। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ व सांसद नकुलनाथ के निर्देशों पर हुए इस आंदोलन में जिला कांग्रेस अध्यक्ष गंगाप्रसाद तिवारी, पूर्व मंत्री दीपक सक्सेना, विधायक सोहन बाल्मिक, सुनील उइके, सुजीत चौधरी विजय चौरे, नीलेश उइके, विश्वनाथ ओकटे, गोविंद राय, अमित सक्सेना, मनीष पांडेय, सुरेश कपाले सहित युवक कांग्रेस, एनएसयूआई सहित सभी विभाग व प्रकोष्ठों के पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित रहे।  सड़क पर ही धरना देकर बैठ गए विधायक: ज्ञापन लेने के लिए जब कलेक्टर नहीं पहुंचे तो विधायक सहित सभी वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता बाहर सड़क पर ही धरने पर बैठ गए। जबकि युवा नेता और कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की। नारेबाजी में कलेक्टर को भाजपा से चुनाव लडऩे का आफर तक दे डाला। ढाई घंटे के प्रदर्शन के दौरान सड़क पर बैठकर धरना भी दिया।जब एसडीएम से कलेक्टर तक चूड़ी भेजने गुहार लगाई:  जिला प्रशासन द्वारा कांग्रेस के आंदोलन को नजरअंदाज करने का आरोप लगाते हुए जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष किरण चौधरी व कार्यकर्ताओं ने उपस्थित एसडीएम को चूड़ी दिखाते हुए कलेक्टर तक पहुंचाने की गुहार लगा ली। जिस पर एसडीएम नाराज हुए और कह पड़े कि बस यही काम के लिए तो एसडीएम बने हैं। महिलाओं ने चूड़ी दिखाते हुए प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओ से पुलिस ने की धक्कामुक्की: कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जब जिला अध्यक्ष कार्यालय पहुंचकर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन को रोकने वहां पहले से ही वज्र वाहन, फायर बिग्रेड और बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था। बैरीकेड को लांघने की कोशिश के दौरान पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच जमकर धक्कामुक्की की स्थिति बनी। कई बार बैरीकेड गिरे, जिसे पुलिस संभालती नजर आई।प्रदर्शन के दौरान फायरबिग्रेड कांच क्षतिग्रस्त: कांग्रेस के प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस बल के अलावा नगरनिगम की दो फायरबिग्रेड भी तैनात की गई थी। बाहर सड़क पर खड़ी एक फायरबिग्रेड  से जब वाटर केनन के प्रयास शुरू हुए तो कार्यकर्ता आक्रोशित हो गए। वाहन में चढ़कर नोजल पकड़ लिया। कुछ उत्साहितों ने वाहन की सामने की कांच क्षतिग्रस्त कर दी।     .Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News.....Congress's Hallabol - two-and-a-half-hour demonstration in the collectorate, there was a lot of effort. ..