अलवर गैंगरेप: MP के बाद राजस्थान में मायावती ने दी समर्थन वापसी की चेतावनी

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। बहुजन समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मायावती ने राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार को समर्थन वापस लेने की चेतावनी दी है। मायावती ने कहा, अगर राजस्थान की गहलोत सरकार ने अलवर गैंगरेप पर जल्दी उचित कार्रवाई नहीं की तो बसपा कांग्रेस से समर्थन वापस लेने का फैसला कर सकती हैं। आज (सोमवार) को मायावती ने एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा, राजस्थान में एक दलित महिला के साथ गैंगरेप किया गया है इस मामले में राजस्थान सरकार अगर उचित कार्रवाई नहीं करेगी तो इस हम समर्थन वापस लेने का फैसला कर सकते हैं। बता दें कि रविवार को यूपी के कुशीनगर में एक चुनावी रैली के दौरान दौरान मोदी ने मायावती को चैलेंज दिया था कि उन्हें अलवर की दलित महिला की इतनी ही चिंता है तो राजस्थान में कांग्रेस से समर्थन वापस क्यों नहीं ले रही हैं।  बीते दिनों मायावती ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा था कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने जो हमारे साथ किया है उसकी कीमत उसे वाजपेयी की तरह चुकानी पड़ सकती है। बसपा प्रत्याशी करतार सिंह भड़ाना के प्रचार के लिए मुरैना पहुंची मायावती ने आरोप लगाते हुए कहा था कि कमलनाथ सरकार में मध्य प्रदेश में सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर बीएसपी प्रत्याशियों को डराया-धमकाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गुना लोकसभा सीट से बीएसपी प्रत्याशी लोकेंद्र सिंह राजपूत को कांग्रेस ने खरीद लिया। इसका बदला हम कांग्रेस से ब्याज समेत वसूल करेंगे। इससे पहले मायावती ने ट्वीट करते हुए कमलनाथ सरकार को चेतावनी दी थी और कहा था कि, सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग के मामले में कांग्रेस भी बीजेपी से कम नहीं। एमपी के गुना लोकसभा सीट पर बीएसपी उम्मीदवार को कांग्रेस ने डरा-धमकाकर जबर्दस्ती बैठा दिया है किन्तु बीएसपी अपने सिम्बल पर ही लड़कर इसका जवाब देगी व अब कांग्रेस सरकार को समर्थन जारी रखने पर भी पुनर्विचार करेगी।

अलवर गैंगरेप: MP के बाद राजस्थान में मायावती ने दी समर्थन वापसी की चेतावनी
डिजिटल डेस्क, लखनऊ। बहुजन समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मायावती ने राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार को समर्थन वापस लेने की चेतावनी दी है। मायावती ने कहा, अगर राजस्थान की गहलोत सरकार ने अलवर गैंगरेप पर जल्दी उचित कार्रवाई नहीं की तो बसपा कांग्रेस से समर्थन वापस लेने का फैसला कर सकती हैं। आज (सोमवार) को मायावती ने एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा, राजस्थान में एक दलित महिला के साथ गैंगरेप किया गया है इस मामले में राजस्थान सरकार अगर उचित कार्रवाई नहीं करेगी तो इस हम समर्थन वापस लेने का फैसला कर सकते हैं। बता दें कि रविवार को यूपी के कुशीनगर में एक चुनावी रैली के दौरान दौरान मोदी ने मायावती को चैलेंज दिया था कि उन्हें अलवर की दलित महिला की इतनी ही चिंता है तो राजस्थान में कांग्रेस से समर्थन वापस क्यों नहीं ले रही हैं।  बीते दिनों मायावती ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा था कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने जो हमारे साथ किया है उसकी कीमत उसे वाजपेयी की तरह चुकानी पड़ सकती है। बसपा प्रत्याशी करतार सिंह भड़ाना के प्रचार के लिए मुरैना पहुंची मायावती ने आरोप लगाते हुए कहा था कि कमलनाथ सरकार में मध्य प्रदेश में सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर बीएसपी प्रत्याशियों को डराया-धमकाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गुना लोकसभा सीट से बीएसपी प्रत्याशी लोकेंद्र सिंह राजपूत को कांग्रेस ने खरीद लिया। इसका बदला हम कांग्रेस से ब्याज समेत वसूल करेंगे। इससे पहले मायावती ने ट्वीट करते हुए कमलनाथ सरकार को चेतावनी दी थी और कहा था कि, सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग के मामले में कांग्रेस भी बीजेपी से कम नहीं। एमपी के गुना लोकसभा सीट पर बीएसपी उम्मीदवार को कांग्रेस ने डरा-धमकाकर जबर्दस्ती बैठा दिया है किन्तु बीएसपी अपने सिम्बल पर ही लड़कर इसका जवाब देगी व अब कांग्रेस सरकार को समर्थन जारी रखने पर भी पुनर्विचार करेगी।